1500 रुपये लेने आयी थी, मिली मौत

लॉकडाउन के दौरान तेलंगाना में शुक्रवार को एक बैंक की कतार में घंटों से खड़ी महिला बेहोश होकर गिर पड़ी और उसकी मौत हो गई

0

नोटबंदी के दौरान पैसे निकालने के लिए कतार में खड़े कई लोगों की मौत हो गयी थी। लॉकडाउन के दौरान भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है। तेलंगाना में शुक्रवार को एक बैंक की कतार में घंटों से खड़ी महिला बेहोश होकर गिर पड़ी और उसकी मौत हो गई। महिला राज्य सरकार द्वारा बतौर सहायता राशि खाते में भेजे गए 1,500 रुपये निकालने आई थी। कोरोना के कारण जारी महाबंदी के बीच हुई इस घटना ने नोटबंदी के पीड़ादायक दौर की याद दिला दी है।

कर रही थी अपनी बारी का इंतजार-

यह दर्दनाक घटना कामारेड्डी जिले के रामारेड्डी ब्लॉक मुख्यालय में हुई। अंगोत कमला (45) तेलंगाना ग्रामीण बैंक के आगे कतार में खड़ी अपनी बारी का इंतजार कर रही थी, तभी बेहोश होकर गिर पड़ी। उसे नजदीकी अस्पताल ले जाया जा रहा था, लेकिन रास्ते में ही उसकी सांस टूट गई। अनुमान लगाया जा रहा है कि कमला को दिल का दौरा पड़ा होगा। स्वास्थ्य मंत्री एतला राजेंद्र ने गुरुवार को लोगों से तय तारीख और समय-सीमा में बैंक जाकर राहत राशि लेने की अपील की थी।

राज्‍य सरकार पर जिम्‍मेदारी का आरोप-

इस बीच, कांग्रेस नेता व पूर्व मंत्री मोहम्मद अली शब्बीर ने महिला की मौत के लिए राज्य सरकार को जिम्मेदार ठहराया। उन्होंने कहा कि उन्हें पता चला है कि यह महिला दो दिनों से आ रही थी। वह दोनों दिन चिलचिलाती धूप में में घंटों कतार मेंखड़ी रही थी। पूर्व मंत्री शब्बीर राहत राशि खातिर जान गंवाने वाली कमला के परिजनों से मिले और उनकी आर्थिक मदद की। उन्होंने राज्य सरकार से पीड़ित परिवार को मौत का मुआवजा देने की मांग की है।

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन में आई खुशखबरी, पुलिस जिप्सी में ही ‘बेबी-ब्यॉय’ ने ले लिया जन्म

यह भी पढ़ें: लॉकडाउन में बढ़ रहा है ऑनलाइन निकाह का चलन

[better-ads type=”banner” banner=”104009″ campaign=”none” count=”2″ columns=”1″ orderby=”rand” order=”ASC” align=”center” show-caption=”1″][/better-ads]

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More