सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहे हैं बनारस के ‘प्लांट मैन’, घर पर बना डाले तीन वन

0

वाराणसी: ग्लोबल वार्मिंग के कारण भीषण गर्मी से पूरा उत्तर भारत इसकी मार झेल रहा है. बनारस, जोधपुर, भुवनेश्वर तक गर्मी से लोगों का बुरा हाल है. वहीं ऐसे वक्त पर पेड़ और उसकी जरूरत को लेकर सोशल मीडिया पर लगातार चर्चाएं हो रही हैं. इसी कड़ी में वाराणसी के ‘प्लांट मैन’ इन दिनों सोशल मीडिया पर सुर्खियों में हैं. हर ओर उनकी तारीफ भी की जा रही है. वाराणसी के सुदामापुर के रहने वाले हरेंद्र उपाध्याय ने भविष्य के संकट को समझते हुए पहले ही अपने घर को हरेभरे पौधों से भर दिया है. हरेंद्र के मुताबिक उन्होंने अपने घर पर तीन वन बनाएं हैं, जिसमें 500 से अधिक पौधे लगे हुए हैं.

Also Read : वाराणसी के मेहंदीगंज में होगी पीएम मोदी की सभा, पांच किसानों को करेंगे सम्मानित

बगीचे में लगे हैं औषधीय पौधों के साथ सुगन्धित फूल

हरेन्द्र ने अपने घर के बाहरी हिस्से में अलग-अलग प्रकार के पेड़-पौधे लगाये हैं. इन पौधों में औषधीय पौधों के साथ सुगन्धित फूल और नौ ग्रह के पेड़ शामिल है. उन्होंने अपने घर के परिसर में पीपल, अशोक जैसे वृक्ष भी लगाए हैं. इन पौधों को हरेंद्र रोजाना देखरेख करते हैं. वह अपने बच्चे की तरह पौधों को संजोकर रखते हैं. वह हर दिन सुबह-शाम पेड़-पौधों में पानी डालते हैं.

पौधे प्रदूषण के साथ कम करते हैं गर्मी का तापमान

हरेंद्र के अनुसार यह पौधे उनके घर के वातावरण को न सिर्फ प्रदूषण से दूर रखते हैं. बल्कि एयर क्वालिटी को भी सुधारने का काम करते हैं. वहीं, इस भीषण गर्मी में तापमान को कम करने का काम भी करते हैं. पौधों के प्रति उनके प्रेम को देखकर सोशम मीडिया पर लोग उन्हें ‘प्लांट मैन’ कहकर बुलाते हैं.

घर में बनाए हैं तीन वन

 हरेन्द्र ने अपने घर पर तीन वन बनाए हैं. पहला चैत्र, दूसरा सदाबहार और तीसरा आनंद वन है. चैत्र वन में उन्होंने विशेष प्रकार की जड़ी बूटियों और पुष्प के पौधों का रोपण किया है. सदाबहार वन में उन्होंने ऐसे पौधे लगाए हैं जो न सिर्फ घर की खूबसूरती बढ़ाते हैं बल्कि किसी भी मौसम में वन क्षेत्र को हरभरा रखते हैं. वहीं आंनद वन में ऑक्सीजन के लिये मुफीद पेड़-पौधों को जगह दी गई है. ये पेड़ 24 घंटे ऑक्सीजन देने का काम करते हैं.

हजार से अधिक पौधों को किया है बांटने का काम

 हरेंद्र खुद के पैसों से समय-समय पर लोगों को न सिर्फ पर्यावरण को लेकर जागरुक करने का अभियान चलाते हैं बल्कि साथ में वह मुफ्त में लोगों को पौधे बांटने का भी काम करते हैं. बता दें कि अभी तक उनके द्वारा हजार से अधिक पौधों को तमाम लोगों के बीच बांटा गया है.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More