अब विधानसभा की दस सीटों पर उपचुनाव के लिए होगी जोर आजमाइश

एक बार फिर देखने को मिलेगी दो लड़कों की जोड़ी, प्रत्याशियों के लोकसभा चुनाव जीतने के बाद खाली हुई हैं यह सीटें

0

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और कांग्रेस लोकसभा चुनाव में गठबंधन कर ठश्रच् को सियासी मात देने में कामयाब रही, वहीं अब बारी यूपी में होने वाले 10 सीटों पर उपचुनाव के लिए जोर आजमाइश शुरू हो गई है. इनमें 9 विधायकों के लोकसभा चुनाव जीतकर सांसद बनने के बाद सीटें खाली हुई है. एक सीट कानपुर के इरफ़ान सोलंकी को सजा होने के बाद खाली हुई है. अब इस उपचुनाव के दोरान एक बार फिर यूपी में दो लड़कों की जोड़ी देखने को मिल सकती है.

यूपी की इन 10 सीटों पर होगा उपचुनाव…

बता दें कि प्रदेश की जिन 10 सीटों पर उपचुनाव होना है उसमें करहल, मीरापुर, खैर, फूलपुर, मझवा, कुंदरकी, गाजियाबाद, कटेहरी, मिल्कीपुर और सीसामऊ सीट है. इनमें से 5 विधानसभा सीटें सपा कोटे की खाली हुई हैं तो 3 सीटें बीजेपी की रिक्त हुई हैं. इसके अलावा एक सीट आरएलडी और एक सीट निषाद पार्टी की है. यह उपचुनाव एनडीए और इंडिया गठबंधन दोनों के लिए काफी अहमियत रखता है. ऐसे में दोनों ही गठबंधन एक-दूसरे की सीटें कब्जा करने की कोशिश में है, लेकिन उससे पहले सीट बंटवारा भी कम अहम नहीं है.

कांग्रेस ने की इतनी सीटों की मांग…

बता दें कि प्रदेश में होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस सपा से सीट मांग रही है. अब देखना है कि कितनी सीटों पर समझौता होता है यह तो दोनों दलों के शीर्ष नेतृत्व की बैठक में ही तय होगा. कांग्रेस की ओर से यूपी की 10 सीटों पर होने वाले विधानसभा उपचुनाव में लगातार दावेदारी की जा रही है. माना जा रहा है कि सपा उपचुनाव में कांग्रेस को गाजियाबाद और अलीगढ़ की खैर सीट दे सकती है, लेकिन यूपी कांग्रेस ने उपचुनाव के लिए पांच सीटों का चयन किया है.

इन सीटों पर c की दावेदारी…

यूपी में लोकसभा चुनाव के बाद खाली हुई सीटों पर कांग्रेस ने सपा के सामने 5 सीटों की मांग कर दी है. कांग्रेस सूत्रों ने बताया कि इसका फैसला अंत में पार्टी के उच्च नेता करेंगे. हालांकि पार्टी की जो मांग है उनमें फूलपुर, मुजफ्फरनगर की मीरापुर, अलीगढ़ की खैर, मिर्जापुर का मझवा और गाजियाबाद सीट शामिल है.

पीड़ित को ही डरा-धमका कर ली 6 हजार की वसूली, दो कांस्टेबल गिरफ्तार

सपा नहीं BJP की सीटों पर दावा…

कांग्रेस नेता ने नाम न सार्वजिनक करने की शर्त पर कहा कि सपा की 2022 में जीती हुई विधानसभा सीटों पर हम दावा नहीं कर रहे हैं बल्कि बीजेपी और एनडीए के कब्जे वाली सीटों पर दावेदारी कर रहे हैं. कांग्रेस नेता ने साफ कहा कि गाजियाबाद सीट को हम नहीं लेंगे पार्टी ने मीरापुर और खैर सीट और पूर्वांचल की फूलपुर और मझवा सीट को लेकर प्लानिंग की है.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More