‘अगले जनम मोहे IPS ही कीजो’

0 163

भारत जैसे देश में कई करोड़पति नेताओं के बारे में तो आप जानते होंगे। कुछ समय पहले पंजाब के दो करोड़पति नेताओं का नाम सामने आया था। इसमें कांग्रेस के दो विधायक, जिनमें केवल ढिल्लों की 137 करोड़ की संपत्ति और करन कौर ब्रार की 128 करोड़ की संपत्ति पाई गई थी। नेताओं की इतनी संपत्ति आम बात है, लेकिन इनसे भी अमीर है पंजाब का एक आईपीएस अफसर।

जी हां मोहाली के एसएसपी गुरप्रीत सिंह भुल्लर पंजाब के करोड़पति क्लब में टॉप पर काबिज हैं। भुल्लर ने अपनी संपत्ति 152 करोड़ रुपए बताया है।IPS-Gurpreet-Singh-Bhullar-गृह मंत्रालय की वेबसाइट पर अपलोड आंकड़ों से इस बात का खुलासा हुआ है। पंजाब के 130 से ज्यादा आईपीएस अफसरों ने अपनी संपत्ति का खुलासा किया है।

IPR के अंतर्गत दिया ब्योरा

गुरप्रीत ने ये ब्योरा Immovable Property Returns (IPR) के अंतर्गत दिया था, जो 2011 के बाद से सार्वजनिक कर दिया गया है। इसमें सभी अधिकारियों को अपनी, अपने जीवन साथी और माता-पिता के नाम की प्रॉपर्टी का ब्योरा देना पड़ता है।

बेशुमार दौलत

एसएसपी भुल्लर द्वारा शो किए गए कुछ 16 प्रॉपर्टी हैं, जिसमें 8 आवासीय, 4 खेत और 3 कमर्शियल प्लॉट हैं। इनकी संपत्ति में एक 85 लाख का कमर्शियल प्लॉट दिल्ली के बाराखंबा रोड, एक 1500 वर्ग गज का खाली प्लॉट दिल्ली के सैनिक फार्म में है। जबकि मोहाली स्थित इनंटरनेशनल एयरपोर्ट रोड के पास स्थित गांव बरियाली में भुल्लर की सबसे ज्यादा महंगी 45 करोड़ रुपये की प्रॉपर्टी मौजूद है। दस्तावेजों के मुताबिक गुरप्रीत की अधिक्तर प्रॉपर्टी पुश्तैनी है।

दूसरी बार SSP बने हैं भुल्लर

एसएसपी गुरप्रीत सिंह भुल्लर मोहाली के दो बार एसएसपी रह चुके है। पहली बार वह 2009 से 2013 तक, इसके बाद 2015 से अब तक उनका कार्यकाल चल रहा है। इससे पहले जब मोहाली जिला नहीं होता था। मोहाली रोपड़ जिले का हिस्सा था, तो वह रोपड़ के एसएसपी रह चुके है। इसके अलावा वह लुधियाना देहाती के भी एसएपी रह चुके हैं। वह, 130 प्लस आईपीएस अफसरों में से एक है, जिन्होंने अपनी जानकारी वेबसाइट पर अपलोड की है।

ये अफसर भी हैं करोड़पति

केंद्रीय ग्रह मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक पंजाब के 130 आई.पी.एस. अधिकारियों की कुल संपत्ति 500 करोड़ है। जिसमें डी.जी.पी सुरेश अरोड़ा की 4.1 करोड़ की प्रॉपर्टी। पूर्व डी.जी.पी सुमेध सैनी की 16.6 करोड़ की संपत्ति शामिल है।

दस्तावेजों के अनुसार सुरेश अरोड़ा ने आखरी प्रॉपर्टी 30 मई 2013 में चंडीगढ़ के सेक्टर 18-ए में अपने कार्यकाल में खरीदी थी। सुमेध सैनी ने शिमला, मंडी, गाजियाबाद और रोपड़ की अपनी सारी संपत्ति पुश्तैनी दिखाई है। कई अफसरों ने अपनी संपत्ति में बड़े खेत दिखाते हुए खेती-बाड़ी में भारी आय दिखाई है।

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More