RAS प्री पास करने के बाद हुई थी शादी, अब बहू नहीं बन पाई अफसर तो घर से निकाला

0 560

एक तरफ जहां पूरी दुनिया में महिलाओं को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया जा रहा है वहीं एक महिला के साथ ज्यादत्ती की खबर सामने आई है। मामला राजस्थान के झुंझुनूं जिले से सामने आया है।

जहां दुनियाभर में महिलाओं का हौसला बढ़ाने की बात की जा रही है वहीं इस मामले को सुनकर आपको ऐसी सोच पर हैरानी होगी। दरअसल झुंझुनूं की एक बेटी आरएएस नहीं बन पाई, तो सुसराल वालों ने बेटी को घर से ही निकाल दिया।

दरअसल जब बेटी ने आरएएस प्री पास कर ली थी, तो सुसराल पक्ष के लोगों ने रिश्ता किया था। बहू एसडीएम बन जाएगी, लेकिन नहीं बनी तो उस पर जुल्म शुरू कर दिए और मारपीट कर घर से ही निकाल दिया।

2013 में प्री किया था क्लीयर

झुंझुनूं जिले के सूरजगढ़ कस्बे के वार्ड नंबर दो की ऊषा ने बताया कि उसने वर्ष 2013 में आरएएस प्री क्लीयर किया था। इस दौरान उसका रिश्ता बुगाला निवासी विकास कुमार के साथ हुआ था। विकास कुमार पॉलिटेक्निकल कॉलेज में व्याख्याता है।

उन्हें लगा कि ऊषा जल्द ही आरएएस बन जाएगी। इसके बाद साल 2016 में दोनों की शादी हो गई। ऊषा ने बताया कि शादी के बाद आरएएस मैन्स हुई। इस परीक्षा में ऊषा कामयाब नहीं हो पाई। इसके के साथ ऊषा पर ताने शुरू हो गए।

उसको ससुराल पक्ष के लोगों ने परेशान करना शुरू कर दिया। पति भी कहने लगा कि अधिकारी नहीं बन पाई।

सुसराल पक्ष पर लगाया प्रताड़ना का आरोप-

पिता जगदीश प्रसाद लोहरानिया ने बताया कि नवलगढ़ तहसील के बुगाला गांव के ससुराल पक्ष वालों के खिलाफ युवती ने दहेज प्रताड़ना, घरेलू हिंसा व मारपीट कर घर से बाहर निकालने का मामला दर्ज कराया है।

ऊषा ने रिपोर्ट में लिखा है कि उनका पति विकास कुमार बुगालिया आदतन शराबी है।

ऊषा ने बताया कि 2016 में राजस्थान लोक सेवा आयोग की आरएएस प्री एग्जाम पास कर चुकी थी। आरएएस मैन कंपटीशन की तैयारी कर रही थी। जो रिश्ते के समय उन्होंने आरएएस प्री रिजल्ट देख कर रिश्ता तय किया था।

शादी के बाद वह अपने पति के साथ ससुराल में रह रही थी। पति और सुसराल पक्ष की प्रताडना के कारण वह आरएएस की मुख्य परीक्षा में सफल नहीं हो सकी।

यह भी पढ़ें: …तो इसलिए यहां पर काट दिए जाते हैं महिलाओं के ये अंग, जानकर खड़े हो जाएंगे रोंगटे

यह भी पढ़ें: आखिर क्‍यों महिलाओं के रेस्‍टोरेंट में खूब मचा धमाल

-Adv-

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More