रोहित शर्मा को उपकप्तानी से हटाना चाहते थे कोहली, पंत और राहुल के नाम का दिया था सुझाव

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार को टीम इंडिया के टी-20 फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया।

0 2,050

भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार को टीम इंडिया के टी-20 फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ने का ऐलान कर दिया। कोहली अक्टूबर में होने वाले टी-20 वर्ल्ड कप के बाद इस फॉर्मेट की कप्तानी छोड़ देंगे। हालांकि वे टेस्ट और वनडे मैचों के कप्तान बने रहेंगे। विराट के टी-20 कप्तानी छोड़ने के ऐलान के बाद एक चौंकाने वाली खबर सामने आ रही है।

रोहित शर्मा को उपकप्तानी के पद से हटाना चाहते थे कोहली:

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक विराट कोहली उपकप्तानी के पद से रोहित शर्मा को हटाना चाहते थे। रिपोर्ट्स के मुताबिक विराट ने बीसीसीआई और सेलेक्टरों को सुझाव दिया कि रोहित शर्मा को व्हाइट-बॉल फॉर्मेट के संस्करणों के उप-कप्तान पद से हटा दिया जाए और केएल राहुल को वनडे और ऋषभ पंत को टी20 में उप-कप्तान बना दिया जाए। इसके पीछे विराट ने बीसीसीआई को अपने तर्क भी दिए। कप्तान कोहली का कहना था कि रोहित अब 34 साल के हो गए हैं। ऐसे में वनडे में केएल राहुल और टी-20 में ऋषभ पंत को उपकप्तान बनाना चाहिए।

संवाद के लिए उपलब्ध नहीं रहते कोहली:

rohit & kohali (1)

रिपोर्ट्स में यह भी दावा किया गया है की पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी का कमरा 24 घंटे टीम के खिलाडियों के लिए खुला रहता था। लेकिन मौजूदा कप्तान कोहली खिलाडियों के साथ संवाद के लिए उपलब्ध नहीं रहते हैं। मैदान के बाहर कोहली से बात कर पाना लगभग असंभव है। वही मीडिया रिपोर्ट्स में ये दावा किया गया है कि रोहित शर्मा में धोनी के लक्षण हैं। जूनियर खिलाड़ियों जब बुरे दौर से गुजर रहे होते हैं, तो रोहित उनके साथ बात कर उनका हौसला बढ़ाते हैं साथ ही खिलाड़ी की मनोदशा के बारे में जानने की पूरी कोशिश करते हैं।

पहले भी आई विवादों की बात:

बता दें कि इससे पहले भी रोहित और विराट के बीच विवाद की खबरें सामने आयीं थी। 2019 वर्ल्ड कप के बाद ऐसी खबरें आई थी की रोहित और विराट एक दुसरे से बात नहीं करते। हालांकि बाद में हेड कोच रवि शास्त्री ने इन सभी बातों से इनकार किया था।

 

यह भी पढ़ें: उपलब्धि के शीर्ष से गुमनामी के अंधेरे तक, जानिए कौन थे भारत के सबसे योग्य व्यक्ति श्रीकांत जिचकर…

यह भी पढ़ें: अनोखा है कानपुर का जगन्नाथ मंदिर, गर्भगृह में लगा चमत्कारी पत्थर करता है ‘भविष्यवाणी’

(अन्य खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें। आप हमेंट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप हेलो एप्प इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

 

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More