ज्ञानवापी मामला: पैरोकार को पाकिस्तान से आया धमकी भरा कॉल, सिर तन से जुदा करने की चेतावनी

0 71

यूपी के वाराणसी में मां श्रृंगार गौरी-ज्ञानवापी मामले में अदालत चुनौती देने वाली महिलाओं में से एक लक्ष्मी देवी के पैरोकार डॉ. सोहन लाल आर्य को पाकिस्तान से धमकी भरी कॉल आई है. कॉलर ने कहा ‘राजस्थान के कन्हैया लाल की तरह ही तुम्हारा भी सिर तन से जुदा कर दिया जाएगा.’ सोहनलाल ने बुधवार को इस मामले की शिकायत पुलिस अधिकारियों से की है. डीसीपी वाराणसी ने केस दर्ज होने की बात कही है. सोहनलाल को पहले से ही सुरक्षा प्राप्त है.

बता दें दिल्ली की राखी सिंह के अलावा वाराणसी की 4 महिलाओं ने मां शृंगार गौरी के नियमित दर्शन और ज्ञानवापी परिसर के अन्य देव की सुरक्षा के लिए मुकदमा दाखिल किया था. डॉ. सोहनलाल आर्य वाराणसी की लक्ष्मी देवी के पति और उनके पैरोकार हैं.

धमकी भरे कॉल को लेकर पैरोकार सोहनलाल ने कहा कि

‘वो इससे डरने वाले नहीं हैं. हिंदुत्व और बाबा विश्वनाथ के मंदिर की रक्षा के लिए प्राण भी चला जाए तो हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा. धमकी के बारे में इंटेलिजेंस ब्यूरो के अधिकारियों से भी बात हुई है. अंदेशा है कि भारत से ही कोई शख्स पाकिस्तान के नंबर का इस्तेमाल करके कॉल कर रहा है. दोनों मोबाइल नंबर पर धमकी मिली है. नंबरों को इंटेलिजेंस के अधिकारियों को सौंपा गया है. वाराणसी के कमिश्नर और डीएम से मिलने का समय मिला है. लक्सा थाने में एफआईआर दर्ज करा रहे हैं.’

 

सोहनलाल ने आगे कहा कि

‘मां शृंगार गौरी का मुकदमा वापस लेने की धमकी दी गई है. जवाब में हमने कहा कि हम धमकी से झुकने वाले नहीं हैं. कल 18 अगस्त को मुकदमे की तारीख है. हिंदुओं के पक्ष में फैसला आने वाला है. कुछ आतंकवादी संगठन हमारे पीछे पड़े हुए हैं. खुले तौर पर कहता हूं कि उन सबके षड्यंत्र से पीछे हटने वाला नहीं हूं.’

उन्होंने बताया कि साल 1984 में वो विश्व हिंदू परिषद के उपाध्यक्ष रह चुके हैं और इस समय आरएसएस के प्रांतीय पदाधिकारी हैं. इससे पहले उन्हें साल 2022 की 19 मार्च और 20 जुलाई को जान से मारने की धमकी मिल चुकी है. हालांकि, उनकी सिक्योरिटी में दो पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More