वाराणसी में बाढ़ प्रभावित क्षेत्र किए गए चिह्नित

भूकंप में भी एनडीआरएफ वाराणसी के जवानों ने अहम भूमिका निभाई

0

वाराणसीः प्रदेश के कई जिलों में जारी भारी बरसात के चलते नदियों में आए उफान के चलते बाढ़ का खतर मंडराने लगा है. इसको देखते हुए योगी सरकार राहत व बचाव के लिए पूरी तरह सतर्क है. इसके लिए जहां संबंधित विभागों को अलर्ट कर दिया गया है वहीं वाराणसी के चौकाघाट क्षेत्र स्थित 11 बटालियन एनडीआरएफ बाढ़ के खतरों से निपटने के लिए कमर कस चुकी है. वाराणसी की यह 11 बटालियन एनडीआरएफ़ उत्तर प्रदेश के 42 जिलों तक बचाव और राहत कार्य करती है. पिछले दिनों तुर्की में आए भूकंप में भी एनडीआरएफ वाराणसी के जवानों ने अहम भूमिका निभाई थी.

राहत व बचाव के लिए एनडीआरएफ पूरी तरह तैयार

योगी सरकार ने बारिश और आपदा के संभावित खतरों को देखते हुए उत्तर प्रदेश में बाढ़ राहत एजेंसियों को सतर्क कर दिया है. 11 एनडीआरएफ के उप महानिरीक्षक मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि बाढ़ के दौरान किसी भी विपरीत परिस्थितियों में राहत-बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की टीम पूरी तरह तैयार है. वाराणसी में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों को पहले से चिह्नित किया जा चुका है. इसके लिए एनडीआरएफ की दो टीम रेस्क्यू मोटर बोट, डीप डाइवर्स, लाइफ जैकेट, लाइफ बॉय, ऑक्सीजन सिलेंडर आदि के साथ राहत बचाव उपकरणों के साथ यथास्थान पर तैनात किए गए हैं. गंगा में एनडीआरएफ की वाटर एम्बुलेंस पैरा मेडिकल टीम के साथ मुस्तैद है. वाराणसी में जरूरत के हिसाब से टीमों की संख्या को बढ़ाया जा सकता है, जिसके लिए भी एनडीआरएफ की तैयारी पूरी है.

वाराणसी के आसपास जिलों के बाढ़ क्षेत्रों में तैनात हैं जवान

डीआईजी ने बताया कि जिन जिलों में हर साल बाढ़ अधिक आती है, उन जिलों को पहले से चिह्नित किया जा चुका है. साथ ही उस जिले के प्रशासन से समन्वय स्थापित कर अभी वाराणसी, गोरखपुर, श्रावस्ती, लखनऊ, कुशीनगर, लखीमपुर खीरी में सभी बचाव और राहत उपकरणों के साथ टीमों को तैनात किया जा चुका है. इसके अलावा अन्य जिलों में भी टीमों को जरूरत के हिसाब से तैनात किया जाएगा. वाराणसी में बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों को पहले से ही चिह्नित कर प्री-पोजीशनिंग के साथ टीमों को मुस्तैद रखा गया है.

भयंकर सड़क हादसे में बाल – बाल बचे सांसद छत्रपाल गंगवार, आरोपित गिरफ्तार

वाराणसी में एनडीआरएफ की दो टीम, रेस्क्यू बोट,डीप डाइवर्स, ऑक्सीजन सिलेंडर,वाटर एम्बुलेंस, पैरा मेडिकल टीम आदि उपकरणों के साथ है किसी भी स्थिति से निबटने के लिए तैयार है.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More