सावन में काशी विश्वनाथ में होंगे सुगम दर्शन, छह द्वार से प्रवेश शुरू…

0

वाराणसी: भगवान शिव के सबसे प्रिय मास सावन में उनके भक्तों के लिए श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में नई व्यवस्थाएं लागू होंगी. धाम के इतिहास में यह पहला मौका होगा जब भक्तों को छह द्वार से प्रवेश मिलेगा. इतना ही नहीं इसके साथ ही काशीवासियों के लिए भी कशीद्वार की शुरुआत हो जाएगी.

मंदिर प्रशासन ने तैयार किया खाका…

बता दें कि सावन से पहले मंदिर प्रशासन ने सावन में दर्शन- पूजन की लिए पहले से ही खाका तैयार कर लिया है. बता दें कि 22 जुलाई से शुरू होने जा रहे सावन मास से पहले 21 जुलाई से शिव की नगरी काशी अपने आराध्य की आराधना में तल्लीन हो जाएगी. सावन में देश ही नहीं दुनिया भर से श्रद्धालु बाबा विश्वनाथ के जलाभिषेक के लिए काशी आएंगे.

मंदिर में बढ़ाए गए दो गेट…

गौरतलब है कि श्री काशी विश्वनाथ मंदिर में लगातार श्रद्धालुओं के संख्या बढ़ रही है इसी को देखते हुए मंदिर न्यास ने विशेष तैयारियां की हैं. सावन में बढ़ती संख्या की अनुमान को देखते हुए पहली बार प्रवेश के लिए दो द्वार बढ़ाए गए हैं. साथ ही काशीवासियों को भी इस बार सावन में बाबा विश्वनाथ के दर्शन सुगम हो जाएंगे.

काशीवासियों की लिए तैयार हुआ काशी द्वार…

बता दें कि मंदिर न्यास ने काशीवासियों के लिए नंदू फारिया गली से काशी द्वार तैयार किया गया है. वहीं, बाबा के लाइव दर्शन और पूजन करने वालों के लिए भी ऑनलाइन दर्शन-पूजन की व्यवस्था रहेगी. श्रद्धालु बाबा विश्वनाथ का ऑनलाइन रुद्राभिषेक और पूजन घर बैठे करा सकेंगे.

भारी बारिश की चेतावनी, वज्रपात का अलर्ट जारी

धाम में ही मिलेगा माला, फूल, प्रसाद और दूध

काशी विश्वनाथ धाम में ही हेल्प डेस्क से लेकर प्रसाद, फूल, माला और दूध की व्यवस्था रहेगी. इस तरह कतारबद्ध होने वाले शिवभक्तों को प्रसाद लेने में दिक्कत नहीं होगी. शिवभक्त धाम के अंदर ही बाबा को अर्पित करने वाला दूध, जल और प्रसाद खरीद सकेंगे. श्रद्धालुओं को कतारबद्ध दर्शन-पूजन कराने के लिए स्टील की बैरिकेडिंग गंगा द्वार, दशाश्वमेध घाट से बांसफाटक, चौक से लेकर गेट नंबर चार तक लगाई जा रही है.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More