BHU में तैयार होगा इतने बेड का अस्थाई अस्पताल

0 477

 

कोरोना संक्रमण का खतरा बढ़ता जा रहा है. अगले कुछ दिनों में कोरोना और तबाही मचा सकता है. इस बात को देश के पीएम और स्थानीय सांसद नरेंद्र मोदी बखूबी जानते हैं. रविवार को समीक्षा बैठक में पीएम की फटकार का 24 घंटे में ही असर देखने को मिला. संक्रमित लोगों को समुचित इलाज के लिए अब बीएचयू में अगले दो हफ्ते के अंदर 1 हजार बेड का अस्थाई अस्पताल तैयार किया जायेगा.

यह भी पढ़ें : हाईकोर्ट का आदेश: UP के पाँच शहरों मे लॉकडाउन

डीआरडीओ तैयार करेगा BHU मे अस्पताल

सूत्रों के मुताबिक समीक्षा बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने जिला प्रशासन और बीजेपी के मंत्रियों और विधायकों की जमकर क्लास लगाई थी. वीडियो कंन्फ्रेंसिंग के दौरान उन्होंने कहा था कि बनारस में कौन क्या कर रहा है, पल-पल की खबर उनके पास है. उनकी इस फटकार का असर देखने को मिला है. इस बीच सोमवार को पीएम मोदी के करीबी और एमएलसी एके शर्मा ने जिला प्रशासन के आला अधिकारियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक की. बैठक में तय हुआ कि डीआरडीओ की मदद से बीएचयू स्टेडियम में एक हज़ार बेड के कोविड हॉस्पिटल का निर्माण किया जायेगा. यह अस्पताल जर्मन हैंगर पद्वति पर बनाया जायेगा. बैठक में एमएलसी ए.के शर्मा के अलावा की मण्डलायुक्त दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा, नगर आयुक्त गौरांग राठी सहित, डीआरडीओ, बीएचयू, सीपीडब्ल्यूडी, विद्युत के अधिकारी शामिल थे.

यह भी पढ़ें : PM ने फटकारा तो, कंट्रोल रूम में तब्दील होगा संसदीय कार्यालय

सभी मेडिकल सुविधाओं से युक्त होगा अस्पताल

इस दौरान एमएलसी एके शर्मा ने बताया कि यह अस्पताल सभी मेडिकल सुविधाओं से युक्त होगा. जर्मन हैंगर से निर्मित यह अस्पताल अगले दो हफ्तों में डीआरडीओ द्वारा 24 घंटे कार्य करते हुए तैयार कर लिया जायेगा. इस अस्पताल के लिए विद्युत आपूर्ति, पानी और सीवर के कनेक्शन के लिए फील्ड विज़िट सम्बंधित अधिकारियों द्वारा आज ही प्रारम्भ कर दिया गया है. डीआरडीओ के द्वारा फार्मेसी, आक्सीजन सप्लाई, मर्चरी आदि की भी व्यवस्था की जायेगी.बता दें कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए वाराणसी में आवश्यक संसाधनों को पूरा करने के लिए गुजरात सरकार के पूर्व आईएएस और एमएलसी अरविंद कुमार शर्मा को केंद्र और राज्य सरकार से समन्वय की जिम्मेदारी सौंपी गई है. शासन ने उन्हें सुचारु व्यवस्था बनाने और वाराणसी में प्रभावी रोकथाम के लिए प्रशासन व पुलिस के मार्गदर्शन की जिम्मेदारी दी है.

(अन्य खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें। आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं। अगर आप डेलीहंट या शेयरचैट इस्तेमाल करते हैं तो हमसे जुड़ें।)

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More