UGC-NET को फिर से कराये जाने के फैसले को लेकर बीएचयू के छात्रों ने कही यह बात..

0

शिक्षा मंत्रालय ने UGC-NET परीक्षा को फिर से कराने का फैसला लिया था. 19 जून के इस फैसले के बाद से ही देशभर में इसको लेकर विरोध-प्रदर्शन हो रहे हैं. वहीं इस फैसले को लेकर जर्नलिस्ट कैफे ने काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग के उन छात्रों के साथ बातचीत की जिन्होंने UGC-NET की परीक्षा दी थी और उनके विचार जानें..

Also Read : एनएसयूआई के छात्रों ने अंकपत्र की प्रतियां जलाकर किया नीट परीक्षा धांधली का विरोध

लगातार पेपर लीक होना निराशाजनक

बीएचयू के पूर्व छात्र विवेक ने बताया कि एनटीए द्वारा हाल ही में नीट परीक्षा में धांधली, वहीं UGC-NET परीक्षा में धांधली के बाद से ही छात्रों के बीच हताशा का माहौल है. उन्होंने बताया कि परीक्षा को लेकर पूरी तैयारी होने के बाद भी उन्हें परीक्षा की पारदर्शिता को लेकर सवाल रहेगा. वहीं राजन ने इसको लेकर शिक्षा मंत्री को घेरा. उन्होंने कहा कि शिक्षा मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान को इस्तीफा दे देना चाहिए. वहीं इतने महीने की तैयारी के बाद परीक्षा देने के बाद यह फैसला आता है कि छात्रों को फिर से परीक्षा देनी होगी. यह दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने एनटीए को भी परीक्षा को ठीक से न कराये जाने को लेकर सवाल उठाए.

सरकार परीक्षा कराने में हो रही है असफल

वहीं छात्र आकाश ने कहा कि पुलिस की भर्ती, नीट पेपर में धांधली और अब यूजीसी नेट को फिर से कराये जाने फैसला यह दर्शाता है कि सरकार कोई भी परीक्षा कराने में नाकामयाब साबित हो रही है. इसका खामियाजा छात्रों को भुगतना पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि नकारात्मक होने के बजाए उन्होंने परीक्षा को लेकर फिर से तैयारी शुरु कर दी है.

छात्रों द्वारा हो रहे हैं प्रदर्शन

इसको लेकर लगातार शहर में प्रदर्शन हो रहे हैं. शनिवार को NEET परीक्षा में अनिमियतता के खिलाफ प्रदर्शन हुए. NSUI से जुड़े छात्रों ने अपना-अपना रिजल्ट जलाकर प्रदर्शन किया. छात्रों ने हाई स्कूल और इंटरमीडिएट की मार्कशीट जलायी. वहीं इस दौरान NSUI के छात्रों ने केंद्र सरकार और NTA के खिलाफ़ जमकर नारेबाजी की. बता दें कि वाराणसी के सिगरा थाना क्षेत्र स्थित साजन चौराहे पर छात्रों ने विरोध प्रदर्शन के साथ रिजल्ट जलाया. इससे पहले कल यानि शुक्रवार को जिला मुख्यालय के सामने समाजवादी पार्टी से जुड़े छात्रनेताओं ने विरोध प्रदर्शन किया. इस दौरान पुलिस छात्रों के बीच खींचतान भी हुआ. वहीं गुरुवार को बीएचयू के सिंह द्वार पर बीएचयू के छात्रों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया गया था. इस दौरान छात्रों ने शिक्षा मंत्रालय और एनटीए के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. प्रदर्शन के दौरान मौजूद सभी छात्रों ने पोस्टार के साथ विरोध जताया.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More