Bharat Ratna 2024: भारतरत्न से सम्मानित होंगे लालकृष्ण आणवाणी

पीएम मोदी ने ट्विट कर दी जानकारी

0

Bharat Ratna 2024: भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व उपप्रधानमंत्री लाल कृष्ण आडवाणी को देश के सबसे बड़े सम्मान भारतरत्न पुरस्कार सम्मानित किए जाने का ऐलान किया गया है. इस बात की जानकारी पीएम मोदी ने अपने एक्स हैंडल के माध्यम से साझा की है.

पीएम मोदी यह जानकारी देते हुए एक्स पोस्ट में लिखा है कि, ” ये साझा करते हुए बेहद खुशी हो रही है कि लाल कृष्ण आडवाणी को भारत रत्न से सम्मानित किया जाएगा. पीएम मोदी ने कहा, ‘मैंने उनसे बात की और उन्हें बधाई दी. आडवाणी हमारे समय के सबसे सम्मानित राजनेताओं में से एक हैं और भारत के विकास में उनका योगदान अविस्मरणीय है.”

”जमीनी स्तर से थी काम की शुरूआत”

इसके आगे पीएम मोदी ने लिखा है कि, ” लाल कृष्ण आडवाणी ने जमीनी स्तर पर काम करने से शुरुआत की और देश के उप प्रधानमंत्री तक बने. उन्होंने हमारे गृह मंत्री और सूचना एवं प्रसारण मंत्री के रूप में भी अपनी पहचान बनाई. लाल कृष्ण आडवाणी तीन बार बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष रह चुके हैं. अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वो देश के गृह मंत्री और डिप्टी पीएम भी रहे. ”

”उन्हें भारतरत्न मिलना मेरे लिए भावुक क्षण”

दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी को भारतरत्न दिए जाने की जानकारी देते हुए पीएम मोदी ने आगे लिखा है कि, ” सार्वजनिक जीवन में आडवाणी ने दशकों सेवा की और वो पूरी तरह से पारदर्शिता और अखंडता के प्रति प्रतिबद्धरहे. पीएम मोदी ने कहा कि आडवाणी ने राजनीतिक नैतिकता में मानक स्थापित किए हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘आडवाणी ने राष्ट्रीय एकता और सांस्कृतिक पुनरुत्थान को आगे बढ़ाने की दिशा में अद्वितीय प्रयास किए हैं. उन्हें भारत रत्न से सम्मानित किया जाना मेरे लिए बहुत भावुक क्षण है.’ मैं इसे हमेशा अपना सौभाग्य मानूंगा कि मुझे उनके साथ बातचीत करने और उनसे सीखने के अनगिनत अवसर मिले.’

Also Read: Assam: गरम तेवर के नरम अंदाज, बिस्वा ने मदरसा के बच्चों पर लुटाया प्यार

कौन है लाल कृष्ण आडवाणी ?

भाजपा के दिग्गज नेता लाल कृष्ण आडवाणी का जन्म 8 नवंबर 1927 को कराची (अब पाकिस्तान) में हुआ था. साल 2015 में उन्हे पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था. इससे पहले वे 2002 से 2004 के बीच अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में सातवें उप-प्रधानमंत्री पद पर आसीन रहे थे. वह भाजपा के संस्थापक सदस्यों में शामिल रहे, वही 1942 में, आडवाणी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ में काम करना शुरू किया. यहीं से उन्होने देश के उपप्रधानमंत्री पद तक का सफर तय किया.

 

 

 

 

 

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More