काशी में गंगा के इन घाटों पर कर रहें स्नान तो हो जाइए सावधान

0

वाराणसी: काशी में गंगा स्नान का विशेष महत्व है. गंगा में हजारों लोग डुबकी लगाते हैं. हालांकि गंगा का जलस्तर कम होने के कारण कुछ घाटों पर नहाने को लेकर सावधानी बरतने की हिदायत दी गई है. वहीं ललिता घाट पर नहाने को लेकर पाबंदी लगा दी गई है.

Also Read : वाराणसी कैंट स्टेशन को आने वाली कुछ ट्रेनों का रहेगा रूट डायवर्जन

सर्वे के आधार पर लगायी पाबंदी

गंगा स्नान और जलस्तर से जुड़े सर्वे के बाद वाराणसी जल पुलिस की ओर से ललिता घाट पर गंगा में डुबकी लगाने को लेकर रोक लगा दी गई है. वहीं श्रद्धालु ललिता घाट पर स्नान न करें, इसके लिए बाकायदा वहां जल पुलिस की तैनाती भी हुई है. इसके अलावा कई और घाटों पर गंगा स्नान करना बेहद खतरनाक है. तुलसीघाट, त्रिपुरा भैरवी घाट, हनुमान घाट और प्रह्लाद घाट पर गंगा स्नान करना सबसे खतरनाक है. वहीं इन घाटों पर नहाने वाले लोगों को भी जल पुलिस ने सावधानी बरतने की हिदायत दी है. बता दें कि बीते कुछ दिनों में यहां गंगा स्नान के दौरान कई लोगों की डूबने से मौत हुई है. वहीं कुछ जगहों पर हादसों को रोकने के लिए जल पुलिस की तरफ से गंगा नदी के किनारे बैरिकेडिंग भी की गई है तो वहीं कुछ जगहों पर फ्लोटिंग जेटी भी लगायी गयी है.

जलस्तर कम होने से निकले पत्थर बन रहे खतरा

जल पुलिस के प्रभारी मिथिलेश कुमार के मुताबिक 84 घाटों के सर्वे के बाद यह पाया गया कि गंगा नदी का जलस्तर कम होने के कारण कई घाटों पर पत्थर निकल आए हैं. ऐसे में वहां स्नान के दौरान हादसे हो रहे हैं, जिन्हें अब रोकने के लिए प्रयास किया जा रहा है. इसी के चलते ललिता घाट पर गंगा स्नान के लिए पाबंदी लगाई गई है. वहीं उन्होंने गंगा स्नान को लेकर खतरे वाले घाटों पर भी निगरानी रखने के आदेश दिये हैं.

Leave A Reply

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. AcceptRead More