इवीएम ने नहीं ‘सत्ता की भूख’ ने केजरीवाल को हराया : अन्ना हजारे

0 150

सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने बुधवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर आरोप लगाते हुए कहा कि सत्ता के प्रति उनकी भूख के कारण ही आम आदमी पार्टी (आप) दिल्ली नगर निगम चुनाव हारी। बीते 23 अप्रैल को हुए निगम चुनाव के लिए मतगणना जैसे-जैसे आगे बढ़ रही है, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) प्रचंड जीत की ओर बढ़ती दिख रही है और लगातार तीसरी बार वह दिल्ली के तीनों निगमों पर सत्ता बरकरार रखने में सफल होती दिख रही है।

अन्ना ने कहा, “लोगों ने उन्हें जनादेश दिया था और उनके पास एक मौका था कि वह दिल्ली को एक मॉडल राज्य बनाएं, जिसकी देखादेखी पूरा देश करे। लेकिन सत्ता बुरी चीज है। एक बार जब आपको कुर्सी मिल जाती है, तो आपकी सोचने-समझने की शक्ति खत्म हो जाती है।”

उन्होंने कहा, “दिल्ली के लिए काम करने के बजाय उन्होंने पंजाब तथा गोवा की सत्ता पर कब्जा करने के ख्वाब देखने शुरू कर दिए। उनके पास जल्दबाजी करने का कोई कारण नहीं था।”

अन्ना ने कहा, “लेकिन उन्हें जल्दबाजी थी और तब लोगों ने महसूस किया कि उनके दिमाग में केवल सत्ता है न कि समाज और देश।” अन्ना हजारे ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) से छेड़छाड़ के केजरीवाल के आरोपों को भी खारिज कर दिया और कहा कि वास्तव में आप के नेताओं की कथनी व करनी के बीच अंतर से लोगों का उनके प्रति मोह भंग हो गया।

Also read : बटिस्टा चाहते हैं डेनियल क्रैग निभाएं ‘जेम्स बांड’ का किरदार

उन्होंने कहा, “उनकी करनी, कथनी के हिसाब से नहीं थी..यही कारण है कि लोगों का उनपर से भरोसा उठ गया। उनके नेता आत्मविश्लेषण की बात कर रहे हैं, लेकिन ऐसा उन्हें पहले ही कर लेना चाहिए था। अब इसकी क्या जरूरत है?”

Comments

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More